SEBI New Rule

Fake News और Stock Manipulation से निपटने के लिए SEBI New Rule

SEBI New Rule का परिचय

SEBI New Rule: सभी को नमस्कार, आप सब कैसे हैं? क्या आप में से किसी ने Tata Investment shares में निवेश किया है और अफवाहों के कारण उछाल का अनुभव किया है, जहां शेयर की कीमत 10,000 तक पहुंच गई और फिर 6,500 तक गिर गई? कई लोग इस स्थिति में फंस गये. SEBI ने अब operators द्वारा फैलाई गई फर्जी खबरों के कारण व्यापारियों को होने वाले नुकसान को रोकने के लिए उपाय पेश किए हैं।

हम इस मुद्दे से निपटने के लिए SEBI के उत्कृष्ट कदमों का पता लगाएंगे। यदि फर्जी खबरें सामने आती हैं, तो manipulated की गई कीमतों को नहीं गिना जाएगा। SEBI ने इसे संबोधित करने के लिए एक गणना पद्धति बनाई है, जिसे मैं live प्रदर्शित करूंगा। यह हर व्यापारी के लिए बहुत अच्छी खबर है।

जानिए पूरा details video के माध्यम से

खुदरा व्यापारियों पर Fake News का प्रभाव

हम सभी जानते हैं कि कैसे media के सहयोग से फर्जी खबरें बड़े पैमाने पर फैलाई जाती हैं, जिससे नए खुदरा व्यापारी, खासकर वे जो COVID के बाद शामिल हुए, बुरी तरह फंस जाते हैं। आइए विवरण में उतरें, लेकिन पहले, यदि आप यहां पहली बार आए हैं, तो कृपया channel की subscribe लें।

जाने SEBI के Demat Account से जुड़े हुए नए Rule के बारे में

अपने daily live सत्रों में, मैं Nifty, Bank Nifty या किसी भी stock का मूल्य व्यवहार सिखाता हूं। मुझे आशा है कि आपने उन sessions से सीखा होगा। यदि आप मूल्य कार्रवाई सीखना चाहते हैं, तो हमसे जुड़ें और हमारे छात्रों की तरह कमाएँ, जिनके पास 12,500 या 35,000 जैसे लाभ कमाने के कई प्रमाण हैं।

Smart Money की भूमिका

Smart Money अक्सर सही रुख होने पर भी आपको डराकर अपनी स्थिति से बाहर कर देती है। हम 25 मई को masterclass में उनके रहस्यों को उजागर करेंगे, जिसमें मूल्य कार्रवाई, मांग-आपूर्ति, cash, futures, और विकल्प शामिल होंगे। महिलाओं, army personnel और विकलांगों के लिए उपलब्ध छूट के लिए 97080 1943 21 पर Call करें।

हम स्कूल के homework की तरह ही revision sessions, study materials, और trading journals प्रदान करते हैं, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि आप वास्तव में पैसा कमाएं। कई मुफ़्त संसाधनों के बावजूद, लोग कमाने के लिए संघर्ष करते हैं क्योंकि उनके पास मददगार समर्थन की कमी होती है, जो आपका जीवन बदल सकता है। Limited seats उपलब्ध हैं, इसलिए call करें और हमारी team से बात करें।

Case Study: Tata Investment और Semiconductor Plant अफवाह

मार्च में, Semiconductor Plant के बारे में एक अफवाह उड़ी, जिसके कारण Tata Investment के shares की कीमत में तेजी से वृद्धि हुई। हालाँकि, Tata Investment ने स्पष्ट किया कि उनका Semiconductor Plant से कोई संबंध नहीं है। इसके बाद SEBI ने स्पष्टीकरण मांगा और इसके बाद share की कीमत में काफी गिरावट आई।

ऐसी अफवाहें खुदरा व्यापारियों को आकर्षित करती हैं और अक्सर उन्हें फंसा देती हैं। SEBI ने अब ऐसी स्थितियों को रोकने के लिए कदम उठाया है। अगर आप media की बात मानेंगे तो फंस सकते हैं. यहां तक ​​कि TATA जैसे प्रमुख stock में भी हेरफेर किया जा सकता है, इसलिए छोटे share की स्थिति की कल्पना करें।

SEBI New Rule और विनियम

SEBI ने हेरफेर रोकने के लिए new rules पेश किए हैं। आइए SEBI के circular और calculations के माध्यम से इन rules और उनके मूल्य प्रभाव को समझें।

सबसे पहले, सेबी का आदेश है कि कंपनियों को 24 घंटे के भीतर किसी भी अफवाह की पुष्टि करनी होगी। यदि कोई कंपनी पुष्टि करती है कि अफवाह झूठी है, तो हेरफेर की गई कीमतों पर विचार नहीं किया जाएगा। यह नियम 1 जून से शुरू होने वाली market cap के हिसाब से top 100 companies पर और 1 दिसंबर से शुरू होने वाली next 250 companies पर लागू होता है।

VWAP Calculation को समझना

आइए समझें कि VWAP (Volume Weighted Average Price) calculation कैसे काम करती है। मान लीजिए कि किसी अफवाह के कारण किसी share की कीमत में अचानक उछाल आ गया। अफवाह की वैधता की पुष्टि करने के लिए company के पास 24 घंटे हैं। यदि कंपनी इसकी पुष्टि करती है कि यह गलत है, तो SEBI VWAP का उपयोग करके stock मूल्य को समायोजित करेगा।

उदाहरण के लिए, यदि किसी अफवाह के कारण किसी share की कीमत 9,500 तक पहुंच जाती है, और कंपनी पुष्टि करती है कि अफवाह झूठी है, तो SEBI इस उच्च कीमत पर विचार नहीं करेगा। इसके बजाय, सेबी उचित मूल्य निर्धारण सुनिश्चित करते हुए VWAP का उपयोग करके समायोजित मूल्य की गणना करेगा।

Example Calculation

आइए calculation को समझने के लिए एक उदाहरण पर विचार करें। मान लीजिए 26-27 जुलाई को किसी stock की कीमत में अचानक 100 point की बढ़ोतरी हो गई। SEBI spike से पहले stock के सामान्य trading pattern के आधार पर समायोजित मूल्य की गणना करेगा।

उदाहरण के लिए, यदि stock की सामान्य कीमत spike से पहले 1,060 थी, और अफवाह के कारण कीमत बढ़कर 1,178.90 हो गई, तो SEBI बढ़ी हुई कीमत से सामान्य कीमत घटाकर समायोजित कीमत की गणना करेगा। इस समायोजित मूल्य का उपयोग लेनदेन के लिए किया जाएगा, यह सुनिश्चित करते हुए कि व्यापारी हेरफेर की गई कीमतों से प्रभावित न हों।

निष्कर्ष

SEBI के new rule का उद्देश्य व्यापारियों को fake news और manipulations से होने वाले नुकसान से बचाना है। 24 घंटों के भीतर अफवाहों की पुष्टि करके और VWAP का उपयोग करके कीमतों को समायोजित करके, SEBI निष्पक्ष व्यापार प्रथाओं को सुनिश्चित करता है। यह कदम खुदरा व्यापारियों की सुरक्षा और बाजार की integrity बनाए रखने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

यदि आपके पास SEBI New Rule के बारे में कोई प्रश्न या प्रतिक्रिया है, तो कृपया एक comment छोड़ें। जागरूकता फैलाने के लिए इस जानकारी को दूसरों के साथ साझा करें।

Disclaimer: यहां बताए गए stock सिर्फ जानकारी देने के उद्देश्य से हैं. यदि आप इनमें से किसी में भी पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले Certified Investment Advisor से Consultation कर लें. आपके किसी भी तरह की लाभ या हानि के लिए लिए Finowings जिम्मेदार नहीं होगा।

क्या आप stock market trading और निवेश में अपनी यात्रा शुरू करना चाहते हैं? शुरुआती से विशेषज्ञ व्यापारी बनने के लिए हमारी Stock Market Class में शामिल हों ! हम stock चुनने के लिए trading की बुनियादी बातों से लेकर उन्नत रणनीतियों तक सब कुछ cover करते हैं। साथ ही, हम महिलाओं और छात्रों के लिए विशेष छूट की पेशकश कर रहे हैं। चूकें नहीं – अभी नामांकन करें और Stock Market में सफलता की राह पर आगे बढ़ें! 

अपनी पसंदीदा Broking firm के साथ Demat Account खोलकर stock market की दुनिया खोलें और 15,000 रुपये की trading रणनीति प्राप्त करें!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *